Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Nov 29 2021

पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 25 अक्टूबर, 2021 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन का शुभारंभ किया।
  • इस मिशन का शुभारंभ वाराणसी से किया गया।
  • 64,180 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ वर्ष 2021-22 के बजट में इस मिशन की घोषणा की गई थी।

उद्देश्य 

  • देश को समृद्धि प्राप्त करने के लिए पहले स्वस्थ बनाना अर्थात्‍ा अखिल भारतीय स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे को मजबूत करना।
  • सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में मजबूत परिणाम देकर भारत को सार्वजनिक स्वास्थ्य संबंधी प्रकोपों के प्रबंधन के मामले में विश्व के सबसे उन्‍नत देशों में से एक बनाना है।
  • आगामी चार-पांच वर्षों में महत्वपूर्ण स्वास्थ्य नेटवर्क को गांव से लेकर प्रखण्ड, जिले से क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर तक मजबूत करना है।

मिशन के तीन बड़े पहलू

  • देश के स्वास्थ्य क्षेत्र के अलग-अलग खामियों से निपटने के लिए आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन के तीन बड़े पहलू हैं।

पहला - डायग्‍नोस्टिक और ट्रीटमेण्ट के लिए विस्तृत सुविधाओं के निर्माण से जुड़ा है। 

  • इन सेण्टरों में फ्री मेडिकल कंसलटेशन, फ्री टेस्ट, फ्री दवा जैसी सुविधाएं मिलंेगी।
  • गंभीर बीमारी के लिए 600 जिलों में 35 हजार नए क्रिटिकल केयर संबंधी बेड जोड़े जा रहे हैं और 125 जिलों में रेफरल सुविधाएं दी जाएंगी।

दूसरा- रोगों की जांच के लिए टेस्टिंग नेटवर्क से जुड़ा है।

  • इस मिशन के तहत, बीमारियों की जांच, उनकी निगरानी कैसे हो, इसके लिए जरूरी बुनियादी ढांचे का विकास किया जाएगा।
  • इसके अलावा, पांच क्षेत्रीय राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र, 20 मेट्रोपोलिटन यूनिट और 15 बीएसएल प्रयोगशालाएं इस नेटवर्क को और मजबूत करेंगी।

तीसरा- महामारी का अध्ययन करने वाले मौजूदा शोध संस्थानों के विस्तार से जुड़ा है।

  • मौजूदा 80 वायरल डायग्‍नोस्टिक और अनुसंधान प्रयोगशालाओं को मजबूत किया जाएगा।
    • 15 जैव-सुरक्षा स्तर की प्रयोगशालाएं संचालित की जाएंगी।
    • 4 नए राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान 
    • 1 राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान की स्थापना 
    • दक्षिण एशिया स्थित डब्ल्यूएचओ क्षेत्रीय अनुसंधान मंच भी इस नेटवर्क को मजबूत करेगा।

प्रमुख विशेषताएं

  • प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन देश भर में स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के लिए सबसे बड़ी अखिल भारतीय योजनाओं में से एक है।
  • यह राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अतिरिक्त है।
  • इसके तहत, जिला स्तर पर विभिन्‍न प्रकार के 134 परीक्षण मुफ्त किए जाएंगे।
  • भारत ‘एशिया’ का पहला देश होगा, जिसके पास व्यापक चिकित्सा सुविधाओं वाले कंटेनर-आधारित दो अस्पताल तैयार रखे जाएंगे।
    • जिन्हे आपदा/विपदा की स्थिति से निपटने के लिए रेल या हवाई मार्ग के जरिए तेजी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

संबंधित पहल

  • अप्रैल, 2018 में आयुष्मान भारत-स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र शुरू किया गया।
  • सितंबर, 2018 में आयुष्मान भारत-पीएमजेएवाई (प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना) की शुरुआत की गई ।
  • सितंबर, 2021 में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन की शुरुआत की गई।

निष्कर्ष
देश को समृद्धि प्राप्त करने हेतु पहले स्वस्थ बनना होगा। पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन स्वास्थ्य के साथ-साथ आत्मनिर्भरता का भी माध्यम है। यह समग्र स्वास्थ्य देखभाल प्राप्त करने के प्रयास का एक हिस्सा है। इसके साथ ही यह प्राथमिक, माध्यमिक, तृतीयक, डिजिटल और मजबूत स्वास्थ्य प्रणाली प्रदान करेगा, जो देशा को भविष्य में महामारी की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करेगा।

संकलन-आदित्य भारद्वाज


Comments
List view
Grid view

Current News List