Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Nov 26 2021

घास संरक्षण केंद्र

वर्तमान संदर्भ

  • 14 नवंबर, 2021 को उत्तराखण्ड के अल्‍मोड़ा जिले के रानीखेत में देश के पहले ‘घास संरक्षण केंद्र’ का उद्‍घाटन उत्तराखण्ड वन विभाग द्वारा किया गया।

पृष्ठभूमि

  • बिगड़ते पारिस्थितिकी संतुलन एवं जैव-विविधता के संरक्षण तथा संवर्धन के क्रम में इस ‘घास संरक्षण केंद्र’ की स्थापना भारत सरकार के कैंपा (CAMPA) अधिनियम, 2016 के तहत वित्तपोषित उत्तराखण्ड वन विभाग द्वारा की गई है।
  • भारत सरकार के प्रतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन तथा योजना प्राधिकरण अधिनियम, (CAMPA) के तहत गैर-वन उद्देश्यों के लिए वन भूमि के विचलन के प्रभाव को कम करने का प्रयास करता है।

अन्य तथ्य

उद्देश्य

  • घास प्रजातियों के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करना, उनके संरक्षण को बढ़ावा देना तथा चिह्नित क्षेत्र में अनुसंधान को बढ़ावा प्रदान करना।

घास संरक्षण केंद्र की प्रमुख विशेषताएं-

  • यह ‘घास संरक्षित केंद्र’ 2 एकड़ क्षेत्रफल में विस्तारित तथा स्थापित है।
  • इसकी स्थापना उत्तराखण्ड वन विभाग के अनुसंधान प्रकोष्ठ द्वारा केंद्र सरकार द्वारा संचालित कैंपा (CAMPA) योजना के तहत विकसित किया गया है।
  • इस संरक्षण केंद्र में घास प्रजाति की लगभग 90 उप-प्रजातियां संरक्षित तथा प्रदर्शित की गई हैं।
  • संरक्षण केंद्र में सुगंधित (Aromatic), औषधीय (Medicinal), चारा (Fodder), सजावटी (Ornamental), धार्मिक रूप से महत्वपूर्ण तथा कृषि जन्य घासें सम्मिलित हैं।

घास प्रजातियों का महत्व

  • आर्थिक विकास तथा संरचनात्मक विकास के क्रम में घास के मैदानों में निरंतर सिकुड़न, परिवर्तन तथा विचलन आ रहा है, ऐसे में उन पर आश्रित जीवीय प्रजातियां तथा पारिस्थितिकी खतरे में पड़ गए हैं, को बचाने तथा संरक्षित करने हेतु ऐसे प्रयास जीवनदायी सिद्ध हो सकते हैं।
  • आर्थिक तथा पर्यावरणीय (कार्बन सीक्‍वेस्ट्रेशन) महत्व के कारण ऐसी घास प्रजातियों का संरक्षण सर्वथा उपयुक्त कदम होगा।
  • 1/3 कार्बन का भण्डारण इन घास प्रजातियों द्वारा किया जाता है। 
  • घास प्रजातियां विविध पोषण तथा औषधीय गुणों को धारण करने वाली तथा मृदा का संवर्धन करने वाली मानी जाती हैं। 
  • मृदा वासित जीवों की विविधता के पोषण तथा संरक्षण को संरक्षित करती है।

संकलन-प्रवेश तिवारी


Comments
List view
Grid view

Current News List