Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Oct 01 2021

रेल कौशल विकास योजना

वर्तमान परिप्रेक्ष्य

  • 17 सितंबर, 2021 को रेल, संचार, इलेक्‍ट्रॉनिक एवं सूचना प्रोद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव द्वारा ‘रेल कौशल विकास योजना’ (RKVY) की शुरुआत की गई।
  • यह योजना प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) के तत्‍वावधान में प्रारंभ की गई है।

महत्‍वपूर्ण बिंदु

  • रेल कौशल विकास योजना भारत के बेरोजगार युवाओं की रोजगार क्षमता और उद्यमिता बढ़ाने के उद्देश्य से उन्‍हें विभिन्‍न व्यवसायों में तकनीकी प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए एक कौशल विकास कार्यक्रम है। 
  • इस योजना के तहत तीन वर्ष की अवधि में 50 हजार युवाओं को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • प्रारंभ में 1000 युवाओं/उम्मीदवारों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा, जो अप्रेंटिस अधिनियम, 1961 के तहत प्रशिक्षुओं को प्रदान किए जाने वाले प्रशिक्षण के अतिरिक्त होगा। 
  • यह प्रशिक्षण चार ट्रेडों यथा इलेक्‍ट्रीशियन, वेल्‍डर, मशीनिस्ट और िंफटर में प्रदान किया जाएगा।
  • इसमें 100 घंटे का बुनियादी प्रशिक्षण शामिल होगा।
  • क्षेत्रीय आवश्यकताओं के अनुसार, क्षेतीय रेलवे और उत्‍पादन इकाइयों द्वारा अन्‍य ट्रेडों में प्रशिक्षण कार्यक्रम जोड़ा जाएगा।
  • प्रशिक्षण नि:शुल्‍क होगा। प्रशिक्षण हेतु पात्रों का चयन मैट्रिक में प्राप्‍त अंकों के आधार पर किया जाएगा।

  • इस प्रशिक्षण हेतु 18-35 आयु वर्ग के उम्मीदवार पात्र होंगे।
  • इस योजना के लिए नोडल एजेंसी बनारस लोकोमोटिव वर्क्स  है।
  • प्रशिक्षुओं का प्रशिक्षण पूर्ण होने पर राष्ट्रीय रेल और परिवहन संस्थान (National Rail & Transportation Institute) द्वारा आवंटित ट्रेड में प्रमाण-पत्र प्रदान किया जाएगा।
  • उपर्युक्त ट्रेडों में प्रशिक्षण प्रदान करने के उद्देश्य से देशभर में 75 रेलवे प्रशिक्षण संस्थानों को चिह्नित किया गया है।
  • स्किल इंडिया अभियान मिशन में यह योजना एक महत्‍वपूर्ण विकास है।

संकलन - मनीष प्रियदर्शी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List