Contact Us - 0532-246-5524,25 | 9335140296
Email - ssgcpl@gmail.com
|
|

Post at: Sep 29 2021

कोंकण अभ्यास, 2021

वर्तमान संदर्भ

  • 16 अगस्त, 2021 को भारत तथा ब्रिटिश नौसेनाओं के मध्य कोंकण अभ्यास-2021 का आयोजन इंगलिश चैनल में आयोजित किया गया।
  • इस अभ्यास में भारत के नौसेना पोत ‘आर.एन.एस. तबर’ तथा ब्रिटेन के एच.एम.एस. (HMS) वेस्टमिंस्टर पोत ने भाग लिया। 
  • भारतीय नौसेना तथा ब्रिटेन की रॉयल नेवी इसके प्रमुख प्रतिभागी थे।

पृष्ठभूमि

  • ब्रिटेन तथा भारत ने वर्ष 2004 में प्रस्तुत अपनी ‘सामरिक रक्षा तथा सुरक्षा’ पर महत्‍वपूर्ण उद््घोषणा में भारत-प्रशांत क्षेत्र में बदलती भू-राजनीतिक चुनौतियों को ध्यान में रखकर, भारत-प्रशांत पर अपनी विशेष प्रतिबद्धता व्यक्त की। 
  • वर्ष 2015 में रक्षा तथा अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा साझेदारी ढांचे का अनावरण भारत तथा ब्रिटेन द्वारा किया गया। इसमें साइबर, रक्षा समुद्री सहयोग को बढ़ाना तथा भारत के ‘मेक इन इंडिया’ पहल को समर्थन देना प्रमुख है।

उद्देश्य

  • कोंकण युद्धाभ्यास की शुरुआत इसी भावना को ध्यान में रखकर वर्ष 2004 में भारत भी अपने राष्ट्रीय हितों की रक्षा तथा क्षेत्रीय सुरक्षा, शक्ति संतुलन आदि प्रमुख स्तंभों को मजबूत करने के लिए समान विचारधारा वाले देश से बहुआयामी, द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय समर्थन हासिल करने को इच्‍छुक रहा है।

महत्‍वपूर्ण तथ्य - कोंकण

  • ऐसे युद्धाभ्यास एक दीर्घकालीन रणनीतिक संबंधों की आधारशिला होते हैं, जो दो देशों की सुरक्षा के साथ-साथ राजनीतिक महत्‍वाकांक्षाओं की परस्पर प्रतिपूर्ति करते हैं।
  • इस प्रकार के द्विपक्षीय नौसैनिक अभ्यास दो सेनाओं के बीच अंतर संचालनीयता, तालमेल तथा सहयोग के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने का कार्य करते हैं।

अन्‍य अभ्यास (ब्रिटेन के साथ)

संकलन - प्रवेश तिवारी
 


Comments
List view
Grid view

Current News List